क्रिकेट से सन्यास लेने के बाद धोनी ने खेती बाड़ी में लगाया है मन , देखें उनके फार्म हाउस की शानदार तस्वीरे

हमारे इंडियन क्रिकेट टीम पूर्व कप्तान महेद्र सिंह धोनी क्रिकेट  जगत से सन्यास ले चुके है और वही इन दिनों धोनी अपने फार्म हाउस और डेयरी फार्म में अपना ज्यादासमय बिता रहे है और वे इन दिनों अपने फार्म हाउस में आर्गेनिक खेती कर रहे है और प्रकृति के साथ अपना समय बिता रहे है |बता दे इन दिनों धोनी रांची के धुर्वा स्थित सेम्बो में 55 एकड़ में फैले अपने खेतों में फार्मिंग कर रहे है और वे अपने इस फार्म हाउस में ढेरों मौसमी सब्जियां लगवाए है जिसका काफी अधिक मात्रा में उत्पादन होता है और धोनी ने अपने खेत  में टमाटर, फूल गोभी, पत्ता गोभी, ब्रोकली जैसी सब्जियों की खेती करवाए है और उनका ये फार्म हाउस इस समय इन मौसमी सब्जियों से भरा हुआ है और धोनी भी अपना ज्यादातर समय  अपने फार्म हाउस में ही बिताते है|

बता दे धोनी के फार्म हाउस में सबसे ज्यादा टमाटर का उत्पादन होता है और धोनी के फार्म हाउस  में 80 किलो टमाटर का उत्पादन रोजाना होता है  और इन टमाटरों की मार्किट में काफी ज्यादा डिमांड है क्योंकि धोनी ने फार्म हाउस के ये टमाटर बहुत ही फ्रेश होते है क्योंकि इन टमाटरों का उत्पादन ऑर्गेनिक रूप से किया जाता है और इस वजह इन टमाटरों के लिए लोग पहले से ही आर्डर लगाये रहते है और मंडी में जाते ही ये तुरंत बिक जाता है |

बता दे धोनी के फार्म हाउस में उत्पादित इन टमाटरों को बाजार में 40 रुपये किलो  के भाव से बेचा जा रहा है |वही कुछ  ही दिनों में रांची   के लोग धोनी के फार्म हाउस  के गोभी का भी स्वाद चख सकेंगे |बता दे सब्जियों के अलावा धोनी ने अपने फार्म हाउस में ढेरों गायें पाल रखी है और रोजाना उनके इस डेयरी फार्म से 300 लीटर दूध का उत्पादन होता है और ये दूध भी बाजार में अच्छे दामों पर बिक रहा है |बता से धोनी के डेयरी फार्म के इस दूध की भी मार्किट में बहुत ज्यादा डिमांड है और मार्किट में ये दूध 55 रुपये लिटर के दाम से बिक रहा है |

बता दे धोनी के फार्म हाउस के गौशाला में करीब 70 गायों को रखा गया है जिसमे भारतीय नस्ल की साहीवाल और फ्रांस के नस्ल की फ्रीजियन गाय पाली गयी है और इन सभी गायों को पंजाब से लाया गया है |बता दे धोनी के इस फार्म हाउस की पूरी देखभाल शिवनंदन और उनकी पत्नी सुमन यादव करती हैं आयर ये दोनों पति पत्नी मिलकर ये पूरा कारोबार सँभालते है |