Join Now

Motivation: बिहार का लाल बना ऑक्सफ़ोर्ड युनिवर्सिटी का प्रोफेसर, पिता ने जमीन बेंचकर पढ़ाया

बिहार में पूर्वी चंपारण जिले के लाल का विश्व की सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय ऑक्सफोर्ड में सहायक प्रोफेसर के रूप में चयन हुआ है। ऑक्सफोर्ड में देश के तीन पीएचडी कर रहे छात्रों का चयन हुआ है, जिसमें पूर्वी चंपारण जिले के तुरकौलिया प्रखंड स्थित कवलपुर के छात्र डॉ. जियाउल हक भी शामिल है।आईआईटी-दिल्ली पीएचडी के लिए अध्यनरत छात्र जियाउल, डॉ.गौरव अरोड़ा व डॉ.तनु जैन के अधीनस्थ मशीन डिजाइन विथ फोर्स कंट्रोल ऑफ इंडस्ट्रियल रोबोट्स पर शोध कर रहे है।

प्रारंभिक शिक्षा गांव के ही मिडल-हाईस्कूल
विश्व के ख्याति प्राप्त यूनिवर्सिटी ऑक्सफोर्ड में डॉक्टर जियाउल हक के चयन से जिलेवासी गदगद है। जियाउल की प्रांभिक शिक्षा तुरकौलिया मिडिल व हाई स्कूल से हुयी है। मोतिहारी एलएनडी कॉलेज से इंटर करके उन्होंने उत्तर प्रदेश के शारदा यूनिवर्सिटी से बीटेक किया। उन्होंने दूरभाष पर बताया कि मेरे पिता एक किसान है। बीटेक में पढ़ाई के लिए उनको जमीन बेचनी पड़ी। मुझे इस बात की खुशी है कि हमने अपने पिता के सपनों को साकार किया है। दिल्ली यूनिवर्सिटी से एमटेक डॉ.जियाउल ने बताया कि हमारे आदर्श पूर्व राष्ट्रपति भारतरत्न अब्दुल कलाम साहब है।

माता-पिता के आशीर्वाद से इस मुकाम पर: डॉ जियाउल ने बताया कि माता सजदा खातून व पिता शेख जुनैद के आर्शीवाद का परिणाम है कि हम इस मुकाम पर पहुंचे है। बताते चले कि जनवरी-2023 में तीनों चयनित छात्रों का ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी इंग्लैंड में ज्वाइनिंग हो जायेगा।

इधर,इस खबर को मिलते ही पूरे तुरकौलिया प्रखंड क्षेत्र में खुशी का माहौल है। विधायक कृष्ण नंदन पासवान व मुखिया विनय कुमार सहित क्षेत्र के सभी जन प्रतिनिधियों ने जियाउल के इस सफलता पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि यह महज गांव ही नहीं पूरे देश के लिए गौरव की बात है।  देश स्तर पर आयोजित गेट की परीक्षा में वर्ष- 2021 में जियाउल का स्थान 19 वां था। मैकेनिक एंड ऑटोमोबाइल इंजिनियरिंग विभाग ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर के रूप में उनका चयन किया गया है।

इनके अलावा आईआईटी मुंबई में पीएचडी कर रहे छात्र डॉ. जीबी कृष्णा का चयन नेनोस्कल इंजिनियरिंग एंड फोटैनिक्स के लिए असिस्टेंट प्रोफेसर के रुप में और यूपी के बस्ती जिले की विष्णु शर्मा की पुत्री इलिज शर्मा का चयन कंप्यूटर साइंस के लिए ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए हुआ है। वह आईआईटी कानपुर में पीएचडी कर रही है।

[डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज सोशल मीडिया वेबसाइट से म‍िली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है. Filaska.com अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है.]