बिहार की टॉपर प्रियांशी, सृष्टि जयंत की तरह IAS बनना चाहती है, सेल्फ स्टडी से बनाया 99%

आइसीएसई 12वीं में 99 प्रतिशत अंक प्राप्त कर आर्टस संकाय की बिहार स्टेट टॉपर बनी माउंट असीसि भागलपुर (Mount Assisi School Bhagalpur) की छात्रा प्रियांशी घोष आगे चलकर सिविल सर्विसेज की तैयारी करना चाहती हैं। उसे दसवीं में 97 प्रतिशत अंक मिले थे। प्रियांशी ने कहा कि मैंने दसवीं में ही तय कर लिया था कि आगे सिविल सर्विसेज में जाना है। इस कारण 12वीं में आर्टस विषय लिया।

स्वास्थ्य और शिक्षा के अलावा समाज के लिए कुछ करने की शुरू से इच्छा है। प्रियांशी ने सफलता का श्रेय अपने पिता संजय कुमार घोष और मां सबिता घोष को दिया है। उसने कहा कि स्कूल के शिक्षक और बड़ी बहन सौम्या घोष भी हमेशा प्रेरित करती रहीं। लक्ष्य पाने की जिद और कठिन परिश्रम साथ-साथ हो तो सफलता आपको गले लगा लेगी।

सेल्फ स्टडी से मिली सफलता
प्रियांशी ने कहा कि कोई भी विषय हो, उसमें अपना शत प्रतिशत देंगे तभी बेहतर कर सकेंगे। बकौल प्रियांशी मेरा पसंदीदा विषय पालिटिकल साइंस है। दिल्ली विश्वविद्यालय से पढऩे की इच्छा है। बीए करने के बाद सिविल सर्विसेज की तैयारी में पूरी लगन से जुट जाना है। 12वीं की सफलता स्कूल की पढ़ाई के अलावा सेल्फ स्टडी से मिली है।

घर में रहकर पढ़ाई करने के लिए खुद को एकाग्र करना होता था। पढ़ाई के दौरान कई बाधाएं आईं, लेकिन लक्ष्य पाने के लिए हर बात को नजरअंदाज करती गई। प्रियांशी ने Economics में 100 अंक, Sociology- 100, Political science-98 और English में 98 अंक प्राप्‍त किया। पांचवां विषय History था, जिसमें उन्‍हें 94 अंक मिले थे।

सृष्टि जयंत देशमुख से मिलने की इच्‍छा
सिविल सर्विस के क्षेत्र में जाने की प्रेरणा इंटरनेट मीडिया पर जारी होने वाली वीडियो से मिली। प्रियांशी ने कहा कि वे चाहती हैं IAS Shrushti Jayant Deshmukh और Tina Dabi की तरह वे भी कार्य करें। उनके जैसा ही देश की सेवा करें और भारत का नाम रोशन करें।

वे लगातार इनका वीडियो देखती हैं। उनके कार्य करने के अंदाज से कुछ ना कुछ नया सीखती हैं। प्रियांशी ने सृष्टि जयंत देशमुख से मिलने की इच्‍छा जताई। प्रियांशु उनको फॉलो करती हैं। उनके आदर्शों पर चलती हैं तथा जिस तरह श्रुति ने पढ़ाई कि उसी तरह वे भी पढ़ना चाहती हैं।

इनका मिला सहयोग
प्रियांशी ने बताया कि माउंट अस‍ीस‍ि भागलपुर के सभी शिक्षकों का उन्‍हें काफी सहयोग मिला है। 12वीं में Sir Jeesan, Sir Vaibhav, Sir Augustine, Sir Wilson का काफी योगदान उनकी सफलता में रहा है। उनके पढ़ाने की शैली के कारण ही इस स्‍कूल के पूर्व प्राचार्य फादर जोश थेक्‍कल व पूर्व उपप्राचर्य फादर बैजू ने भी लगातार प्रियांशी का मार्गदर्शन किया था।

प्रियांशी ने 10वीं की भी पढ़ाई माउंट असीसि स्‍कूल से ही की है। Sir Shushant, Mam shiny, sister Lincy आदि शिक्षकों के अच्‍छे मार्गदर्शन के कारण 10वीं का रिजल्‍ट में काफी बेहतर रहा था। 10वीं में भी वे माउंट अ‍सीसि स्‍कूल भागलपुर में ही पढ़ी थीं। वे मूलत: चंपानगर भागलपुर की रहने वाली है। मुंदीचक भागलपुर में रहकर पढ़ाई करतीं हैं। अभी वह दिल्‍ली में हैं।

प्रियांशी को माउंट असीसि स्‍कूल के प्राचार्य फादर कुरियन थ्रि‍क्‍कोडेममेलिन, उप प्राचार्य फादर याकूव व शिक्षक मनीष कुमार झा ने शुभकामनाएं और बधाई दी है। फादर कुरियन ने कहा कि- प्रियांशी के कारण ना सिर्फ विद्यालय का नाम बल्कि भागलपुर का नाम पूरे देश में रोशन हुआ है। विद्यालय उन्‍हें हर प्रकार से सहयोग करेगा। माउंट असीस‍ि स्‍कूल के हेडमास्‍टर Fr. Sivi Kulakkatt ने भी प्रियांशी के उज्‍जवल भविष्‍य की कामना की है।

[डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज सोशल मीडिया वेबसाइट से म‍िली जानकारियों के आधार पर बनाई गई है. Filaska.com अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है.]