धर्मेंद्र देओल पहुंचे अपने पैत्रिक घर, twitter के जरिये शेयर किया पुरानी यादों को, पिता को लेकर हुए भावुक

अगर आप फील।ओ के दीवाने है तो आप धर्मेंद्र देओल की फिल्मों को देखने से इनकार नही कर सकते उनकी कलाकारी का हर कोई दीवाना है। धर्मेंद्र ओर अमिताभ बच्चन की जोड़ी ने बॉक्स ऑफिस पर जो धमाल मचाया है वो आज तक लोगो के कानों में गूँजता है ।

आपको शोले मूवी भी याद होगी ऐसी लगभग 400 फिल्मो में धर्मेंद्र ने काम किया हेआज हम आपको बताते है जब धर्मेंद्र अपने।पैतृक गांव अपने घर पहुंचे तो वो भावुक हो गए और उन्होंने एक वीडियो भी शेयर की है बॉलीवुड लीजेंड धर्मेंद्र ने आज विनय पाठक द्वारा होस्ट किए गए एक टीवी शो हर घर कुछ कहता है से एक पुरानी क्लिप साझा की है। अभिनेता शो में एक अतिथि थे और कार्यक्रम के हिस्से के रूप में लुधियाना के साहनेवाल गांव में अपने पैतृक घर गए थे।

मकान की तस्वीर के साथ वे लिखते हैं कि मेरे बाबू जी का घर, इस दर से आते जाते, उसके दर पर माथा टेकते. दुआएं मांगते गुजरता था मैं. आभारी हूं. उसने सुन ली. इस दर ने बड़े प्यार से आर्शीवाद देकर विदा किया था. ये घर मेरे बाबुजी का घर. बचपन गुजरा था यहां. बहुत याद आता है दोस्तों.

भावुक अदांज में धर्मेंद्र ने बताया कि इस पुराने घर की उन्हें आज भी याद आती है. सफलता के इस मुकाम पर पहुंचाने में इस घर का बड़ा योगदान है. धर्मेंद्र अपने माता और पिता से बहुत प्यार करते थे. उनका कहना था कि आज जो कुछ भी वे हैं उसमे माता पिता के आर्शीवाद को बहुत बड़ा योगदान है.

धर्मेंद्र इस उम्र में भी सोशल मीडिया पर खूब सक्रिय रहते हैं और अपनी पर्सनल लाइफ से जुड़ा कुछ न कुछ शेयर करते रहते हैं। सोमवार को उन्होंने ऐसा ही एक वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया, जो उनके गांव के पुश्तैनी घर का है। इस वीडियो में उनके साथ विनय पाठक भी नजर आ रहे हैं। वीडियो में धर्मेंद्र विनय पाठक के साथ अपने गांव के पुश्तैनी घर में जाते हुए नजर आ रहे हैं।

धर्मेंद्र, विनय पाठक को अपने माता-पिता और बचपन के बारे में बता रहे है। वह विनय को अपने बचपन और परिवार की तस्वीरें दिखाते हुए उनके बारे में बताते हैं।इसमें धर्मेंद्र को विनय और शो के दर्शकों के साथ बचपन की कहानी साझा करते हुए दिखाया गया है। वह बताते हैं कि उन्होंने और उनके भाई ने एक बार लड़ाई में एक कुर्सी तोड़ दी थी और उन्हें डर था कि पता तो उनके पिता उन्हें मार देंगे.

दोनों भाइयों ने उसे बांध दिया और बड़े करीने से अपने ड्राइंग रूम में रख दिया। उनकी मौसी, जो दिखने में थोड़ी भारी थीं, एक पारिवारिक समारोह के दौरान उनसे मिलने गईं और कुर्सी पर बैठ गईं। जब उनके पिता को पता चला कि कुर्सी टूट गई है, तो उन्होंने इसका आरोप चाची पर लगाया।