UPSC Result 2021 : सिविल सेवा परीक्षा में उत्तर प्रदेश की श्रुति शर्मा ने किया टाप, उत्तर प्रदेश के और किस विद्यार्थी ने सफलता हासिल की, पढ़ें पूरी खबर.. 

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) 2021 की सिविल सेवा परीक्षा में उत्तर प्रदेश की श्रुति शर्मा ने टाप कर प्रदेश का नाम गर्व से ऊंचा कर दिया है। सिविल सेवा परीक्षा 2021 का परिणाम सोमवार को घोषित किया गया। इसके पहले तीन स्थान पर लड़कियां हैं। इस बार कुल 685 अभ्यर्थियों ने परीक्षा पास की है।

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की ओर से आयोजित सिविल सेवा परीक्षा 2021 के अंतिम नतीजों की घोषणा आज हो गई है। इस परीक्षा में उत्तर प्रदेश के बिजनौर की श्रुति शर्मा ने पहला स्थान स्थान प्राप्त किया है। श्रुति ने दिल्ली में अपनी पढ़ाई पूरी की है। वह इतिहास की छात्रा हैं। श्रुति दो वर्ष से जामिया में आरसीए से कोचिंग कर रहीं थी। श्रुति शर्मा (रोल नंबर 0803237) ने कहा कि उन्हें इस बार सिविल सेवा परीक्षा में सफलता मिलने की विश्वास था, लेकिन चयनित घोषित उम्मीदवारों से पहला स्थान मिलना उनके लिए आश्चर्य की बात है।

श्रुति शर्मा का सपना आएएस बनने का है। वह भारतीय प्रशासनिक सेवा में जाना चाहती हैं। सिविल सेवा परीक्षा 2021 में पहला स्थान प्राप्त करने वाली श्रुति शर्मा ने दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफेंस कॉलेज और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से पढ़ाई की है। इसके बाद, श्रुति शर्मा ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया रेजीडेंशियल कोचिंग एकेडमी से सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी की।

सुलतानपुर की अरीबा नोमान की 121वीं रैंक : सुल्तानपुर की बेटी अरीबा नोमान का सिविल सर्विसेज में 109वीं रैंक के साथ चयन हुआ।इनके पिता नोमान अहमद नेशनल इंश्योरेंस कंपनी में प्रशासनिक अधिकारी हैं जबकि माता रुखसाना निकहत गृहणी हैं। बहन तूबा नोमान लखनऊ में शिक्षा प्राप्त कर रही हैं।

हनीफ नगर पियारे पट्टी रोड सुल्तानपुर निवासी अरीबा नोमान की शिक्षा शहर के स्टेला मारिस कान्वेंट में हाई स्कूल तक हुई जबकि इन्होंने इंटरमीडिएट इंडियन पब्लिक स्कूल नई दिल्ली तथा बीटेक दिल्ली यूनिवर्सिटी से किया। अरीबा नोमान ने बताया कि प्रशासनिक क्षेत्र में जाने की प्रेरणा उन्हें इनके मामा गुफरान अहमद सैफी से मिली जो कि जिले के प्रसिद्ध समाजसेवी और समाजवादी पार्टी के विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष भी हैं।मुरादाबाद के उत्तम भारद्वाज का आइएएस में चयन, 121वीं रैंक : मुरादाबाद के मझोला की बिजली घर कालोनी निवासी उत्तम भारद्वाज का आइएएस के लिए चयन हुआ है। बिजली विभाग में अधिशासी अभियंता (ट्रांसमीशन) नवीन कुमार शर्मा के पुत्र उत्तम भारद्वाज की 121 रैंक(सामान्य) आई है। उन्हें यह सफलता दूसरी बार में मिली है। इससे पहले 2019 में भी सिविल सर्विसेज की परीक्षा दे चुके हैं।

उत्‍तम इससे पहले 2019 में भी सिविल सर्विसेज की परीक्षा दे चुके हैं। पहली बार 2019 में एप्टिट्यूड टेस्ट में .14 अंक कम रहने के कारण सफलता नहीं मिली थी। लेकिन उन्होंने अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए पढ़ाई जारी रखी और 2021 में परीक्षा देकर सफलता पाई है। उत्तम भारद्वाज का 12वीं कक्षा पास करने के बाद नेवी में 2015 में फाइटर पायलट के लिए चयन हो गया था। नेवी की एक आंतरिक परीक्षा में सफलता नहीं मिली थी। जिससे उन्हें फाइटर पायलट की बजाय दूसरी पोस्ट पर तैनाती मिलनी थी लेकिन, संतुष्टि नहीं होने पर इस पोस्ट को छोड़ दिया। उन्होंने फिर आइएएस की तैयारी का लक्ष्य निर्धारित करके पहले दिल्ली विश्वविद्यालय से बीए की पढ़ाई की। इसके साथ वह दिल्ली में आइएएस की तैयारी करते रहे। उत्तम भारद्वाज मूल रूप से जिला बुलंदशहर के देवीपुरी-प्रथम आनंदपुरी के निवासी हैं। पिता की तैनाती मुरादाबाद के बिजली विभाग में अधिशासी अभियंता के पद पर होने के कारण बिजली घर की कालोनी मझोला में रहते हैं।

बहराइच के आनन्द कुमार सिंह को 206 रैंक : बहराइच के सिंहपुर के रहने वाले आनन्द कुमार सिंह को 206 रैंक मिली है। उन्होंने 2012 में लखनऊ के नेशनल इंटर कॉलेज से 72 प्रतिशत अंकों के साथ इंटर किया था। उसके बाद बीएचयू से बीए ऑनर्स किया। 2019 में पीसीएस में 53 रैंक, 2020 में यूपीएससी में 533वीं रैंक मिली थी। असिस्टेंट कमिश्नर आयकर पद पर चयनित होने के बाद आईएएस की तैयारी कर रहे थे। अब 206 रैंक पर चयन हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.