सलमान खान को राजकुमार को ने ऐसा क्यों कहा “अपने बाप से पूछना मैं कौन हूँ”

बलूचिस्तान (पाकिस्तान) में जन्मे राजकुमार को आज भी उनकी बुलंद आवाज और बेहतरीन डायलॉग डिलिवरी के लिए याद किया जाता है। वैसे, कम ही लोगों को मालूम होगा कि राजकुमार का असली नाम कुलभूषण पंडित है। जितनी शानदार उनकी एक्टिंग और डायलॉग डिलिवरी होती थी, उतने ही इंटरेस्टिंग उनकी जिंदगी के किस्से भी हैं। वे स्क्रीन ही नहीं, रियल लाइफ में भी अपनी बेबाकी के लिए मशहूर थे। एक बार तो नए-नए हीरो बने सलमान खान (Salman Khan) उनसे उलझ गए थे। इसके बाद राज कुमार ने सलमान की सारी हेकड़ी निकाल दी थी। आखिर क्या था वो वाकया.

राज कुमार की तरह ही सलमान खान को भी बॉलीवुड में उनके एटिट्यूड के लिए जाना जाता है। ऐसे तमाम किस्से हैं, जब सलमान ने सामने वाले की बोलती बंद करा दी। हालांकि, एटिट्यूड के मामले में अगर सलमान शेर हैं, तो राज कुमार सवा शेर थे। ये किस्सा आज से 31 साल पहले यानी 1990 के आसपास उस वक्त का है, जब सलमान खान बॉलीवुड में नए-नए हीरो बने थे। वैसे तो सलमान का डेब्यू फिल्म ‘बीवी हो तो ऐसी’ से ही हो गया था, लेकिन उन्हें पहचान 1989 में आई सूरज बड़जात्या की फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ से मिली थी।

सूरज बड़जात्या ने सलमान खान और भाग्यश्री जैसे नए चेहरों को लेकर फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ बनाई थी। इस फिल्म ने दोनों को ही रातोंरात स्टार बना दिया था। फरवरी, 1990 में फिल्म को मिली जबर्दस्त कामयाबी के बाद इसकी सक्सेस पार्टी रखी गई, जिसमें बड़जात्या की पूरी फैमिली के अलावा सलमान की फैमिली और एक्टर राजकुमार को भी इनवाइट किया गया था।

पार्टी में सलमान खान थोड़ा लेट पहुंचे थे। चूंकि सलमान ने उस वक्त नया-नया स्टारडम देखा था और उन्हें नशा करने की भी आदत थी। ऊपर से ये सलमान की सुपरहिट फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ की सक्सेस पार्टी थी तो इसमें वो ड्रिंक करके न पहुंचते, ऐसा भला कैसे संभव था। ड्रिंक्स के साथ ही सलमान को उस वक्त सक्सेस का भी नशा हो गया था।

इसके बाद सूरज बड़जात्या राजकुमार को सलमान के पास ले गए। सूरज बड़जात्या को ये बिल्कुल भी अंदाजा नहीं था कि वो राजकुमार को नहीं पहचानते होंगे। जब सूरज बडजात्या उन्हें लेकर सलमान के पास पहुंचे तो सलमान ने एटीट्यूड में पूछा- आप कौन? बस सलमान का इतना कहना था कि राजकुमार ने उनकी सारी हेकड़ी निकाल दी।

चूंकि राज कुमार के एटीट्यूड से अमिताभ, गोविंदा जैसे स्टार्स भी नहीं बच पाए थे तो फिर नए-नए हीरो बने सलमान की क्या बिसात थी। राज कुमार ने सलमान को याद दिलाते हुए कहा- बरखुरदार! अपने पिता सलीम खान से जाकर पूछना कि मैं कौन हूं? राजकुमार की बात सुनते ही सलमान का सारा नशा पल भर में उतर गया।

इसके बाद सलमान खान को अंदाजा हो गया कि उनसे बहुत बड़ी गलती हो गई है। ये वो वाकया था, जिसके बाद राज कुमार और सलमान जब भी कहीं टकराते थे तो सलमान उन्हें सबसे पहले जाकर मिलते थे। 70 से ज्यादा फिल्मों में काम कर चुके राज कुमार का 3 जुलाई, 1996 को 69 साल की उम्र में निधन हो गया। उन्होंने मदर इंडिया, पैगाम, घराना, दिल एक मंदिर, वक्त, काजल, हमराज, नीलकमल, हीर रांझा, पाकीजा, राजतिलक, धर्मकांटा, मरते दम तक, साजिश, जंगबाज, सौदागर, तिरंगा, बेताज बादशाह और जवाब जैसी फिल्मों में काम किया है।